गाजियाबाद स्थित CBI कोर्ट ने Nithari हत्याकांड के 16 मे से एक केस मे सुनवाई करते हुए मोनिंदर सिंह पंढेर और सुरेन्द्र कोली को फांसी की सजा सुनाई।

फोटो : कच्चा चिट्ठा

 

क्या कहा स्पेशल जज ने ?

सजा सुनते हुए CBI स्पेशल जज पी के तिवारी ने कहा कि कोली और पंढेर दोनों अपने घर मे काम करने वाली 25 साल की लड़की के रेप और मर्डर के दोषी पाए गए हैं। उन्हे कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। यह 16 मे से 9वां केस था जिसमे कोली रेप और मर्डर का दोषी पाया गया है पर मोनिंदर सिंह पंढेर भी बराबरी का हिस्सेदार है जुर्म मे इसलिए उसे भी वही सजा सुनाई गयी है।

 

शिकार लड़की घर का काम करने वाली थी। जो 12 अक्तूबर 2006 से गायब थी। बाद मे उसकी पहचान D-5, Sector-31, Noida से बरामद अवशेषों से हुई।

NITHARI केस क्या है ?

निठारी कांड 2006 मे तब सामने आया जब नोएडा पुलिस निठारी मे मोनिंदर सिंह पंढेर के घर के पीछे से 16 इंसानी कंकाल और खोपड़ियाँ बरामद की जोअधिकतर बच्चों और महिलाओं के थे। बाद के जांच मे पता चला की कोली मोनिन्दर के घर बच्चों और महिलाओं को बहला-फुसलाकर लाता और उनके साथ रेप कर उनका मर्डर करता। फिर लाश टुकड़ों मे कर पास के नाले मे फेक देता। जांच मे यह भी पता चला है कि उन लोगों ने कई लोगों के लाशों को पका कर खाया भी था।

कोली पहले हीं 16 मे से आठ केस मे फांसी की सजा पा चुका है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here