हिमाचल प्रदेश के कसौली जिले में अवैध निर्माण गिराने की कार्रवाई के दौरान महिला अफसर की हत्या करने का आरोपी विजय कुमार को वृंदावन से गिरफ्तार कर लिया गया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकारी महिला अधिकारी की गोली मारकर हत्या करना कसौली मे कानून लागू ना होने का ही नतीजा है.

इस मामले में दिल्ली पुलिस सूत्र ने बताया है कि आरोपी विजय सिंह ने पूछताछ में बताया कि शैलबाला काफी मिन्नतें करने के बाद भी उसे राहत देने को तैयार नहीं थी. वह एक अड़ियल अफसर की तरह बर्ताव कर रही थी. वह अफसर के साथ बात कर किसी तरह मामले को सेटल करना चाह रहा था, लेकिन अफसर उसकी बात सुनने को तैयार नहीं थी.

आरोपी विजय सिंह ने बताया की मैंने ये काम इसलिए किया क्योंकि में जिस न्याय की अपील लेकर थाने जाता लेकिन उसकी वह पर कोई भी नहीं सुनता जिसकी चपेट में आकर उसने ये सब किया.

महिला अफसर की हत्या करने का आरोपी विजय कुमार को वृंदावन से गिरफ्तार कर लिया गया है. हत्या के बाद आरोपी जंगल में भागा और उसी दिन देर रात वापस घर लौटा. घर में उसने अपने कई एटीएम कार्ड और आधार कार्ड की कॉपी ली और फिर 2 मई की सुबह तड़के बस से दिल्ली के सराय काले खां बस अड्डे पहुंचा. वहां से मथुरा और फिर वृंदावन पहुंचा उसने अपना फ़ोन बंद किया.  ये धटना करीबन 1 मई की है लेकिन आरोपी को पकड़ने में पुलिस 2 मई को सफल हुई. आरोपी एस घटना से काफी हद तक डर गया था और उसी रात को वह वहा से भागकर तुरंत दिल्ली की और भाग गया.

हिमाचल सरकार से नाराज सुप्रीम कोर्ट ने कहा, महिला अफसर की हत्या एक शर्मनाक बात है. एक व्यक्ति कैसे इतने बड़े ऑफिसर की हत्या कर इतनी दूर भाग सकता है . कसौली मामले में हिमाचल सरकार के रवैये पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर की है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि महिला अफसर की हत्या कोर्ट के आदेश की वजह से नहीं हुई है, बल्कि कानून को लागू ना करने पर हुई. कोर्ट ने कहा कि पूरे हिमाचल में अवैध निर्मांण हुए हैं, सरकार क्या कर रही है?

पुलिस कर्मियों ने पता लगया की आरोपी ने वृंदावन में उसने एक रिक्शेवाले के फ़ोन से अपने एक रिश्तेदार को फोन किया. दिल्ली पुलिस ने सबसे पहले उस रिक्शेवाले को पकड़ा. रिक्शेवाले ने बताया कि आरोपी इसी इलाके में है और उसके बाद बांके बिहारी मंदिर से विजय को दिल्ली पुलिस ने पकड़ लिया. आरोपी ने बताया कि वह भगवान से पूछ रहा था कि उसे भगवान ने अपनी जन्मस्थली क्यों बुलाया. उससे हत्या क्यों करवाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here