एक वक़्त था जब तेज़ रफ़्तार की गेंदबाज़ी का ज़िक्र होता था तो पाकिस्तान, साउथ अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया इन्ही देशों के नाम ज़बान पे आते थे पर वक़्त के साथ मंज़र मानो बदल सा गया है, पहेल स्पिन के बदौलत खेलने वाला टीम आज फ़ास्ट बॉलर पे गर्व करते हुए खेलने की क्षमता रखते हैं. हम बात कर रहे हैं अपने देश भारत के बारे में. कुछ साल पहले तक जो टीम पूरी तरह स्पिन गेंदबाजी और बल्लेबाज़ी पे निर्भर थी, पर इस बार का ऑस्ट्रेलिया दौरा देखने वाला होगा क्योंकि काफी समय बाद या कह सकते हैं की इतिहास में पहली बार भारतीय टीम इतने संख्या में तेज़ गेंदबाजों के साथ कंगारुओं को फेस करेगी .याद हो की ये ऐसे तेज़ गेंदबाज़ हैं जिनकी बदौलत भारत ने इस वर्ष दो मैच में 20 विकेट लिए हैं.

 

मुहम्मद शमी

ये दाएँ हाथ से तेज गति की गेंदबाजी करते है तथा ये लगभग 140 किलोमीटर की गति से गेंदबाजी करते हैं। मोहम्मद शमी रिवर्स स्विंग के विशेषज्ञ माने जाते हैं ये वो खिलाडी हैं जो की नए और पुराने दोनों गेंदों को स्विंग करा सकते हैं. मोहम्मद शमी ने नवंबर 2013 अपने टेस्ट कैरियर की शुरुआत वेस्ट इंडीज के विरुद्ध की तथा 5 विकेट लिए थे.

मोहोम्मेद शमी सोर्स इन्टरनेट

भुवनेश्वर कुमार

कुमार एक दाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं जो बल्ले के खिलाफ दोनों तरफ कुशलता से स्विंग कराते है, विशेष रूप से देर से स्विंग बनाने में माहिर है। ये अनुभवी और कंसिस्टेंट गेंदबाज़ हैं, इसके अलावा ये स्विंग करने की भी क्षमता रखते हैं.

भुवनेश्वर कुमार सोर्स इन्टरनेट

उमेश यादव

उमेश यादव सबसे तेज भारतीय गेंदबाज हैं, जिनकी शीर्ष गति 152.5 किमी प्रति घंटे है. इनके पास भी अनुभव की कमी नहीं है और साल दर साल इन्होने अपने पेस पर भी ध्यान दिया है जिसके कारण पेस बॉलर में भी इन्हें जाना जाता है.

उमेश यादव सोर्स इन्टरनेट

इशांत शर्मा

इशांत शर्मा के पास अच्छी हाइट है जिसका फायदा उन्हें हमेशा अपनी बोलिंग में होती है. वो इकलौते भारतीय बॉलर है जो कि अच्छी हाइट से हर बॉल करते हैं. कुछ सालों में इन्होने अपने फिटनेस और बोलिंग में काफी मेहनत किया है जिसके वजह से इनके परफॉरमेंस में काफी अंतर आया है.

इशांत शर्मा सोर्स इन्टरनेट

जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह हमेशा  एक मील का पत्थर साबित होते हैं इनकी स्लिंग आर्म एक्शन और योर्कर डालने की प्रतिभा इन्हें सबसे अलग करता है क्यूंकि दुनिया में कुछ ही बॉलर हैं जो मनचाहे योर्कर दाल सकते हैं और ये उनमें से एक हैं.

जसप्रीत बुमराह सोर्स इन्टरनेट

इंडियन कोच रवि शास्त्री का कहना है कि अभी तक एसी कोई इंडियन स्क्वाड रही नहीं है.

साउथ अफ्रीका के कप्तान फाफ दू प्लेसिस का कहना है की पहली बार भारतीय टीम में ऐसे 3 या 4 खिलाडी खेल रहे हैं जो की 150 किमी से अधिक की रफ़्तार का गेंद डालते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here